**आखिर क्यों मारपीट के मामले को अपहरण और हत्या के प्रयास में तब्दील कर मुकदमा लिखा गया....**


सच ये है @ डॉ कुमार वरुण


**आखिर क्यों मारपीट के मामले को अपहरण और हत्या के प्रयास में तब्दील कर मुकदमा लिखा गया....**


बिकरू कांड (कानपुर) के पहले का ऑडियो सुनिए कैसे थाना प्रभारी एसएसपी को बता रहे हैं कि मुकदमा 364,342,307 का बन रहा है और जब एसएसपी पूछे कि सही बताओ  मामला क्या है तो थाना प्रभारी कह रहे सर मारपीट तो हुई है। इसका मतलब मुकदमा फर्जी लिखा गया था क्योंकि यह तो खुद कह रहा है कि मारपीट हुई है बाकी चीजों का उल्लेख दरोगा नहीं कर रहा है। क्या राहुल तिवारी ने किसी के इशारे पर मुकदमा दर्ज करवाया था। इसकी भी जांच जरूरी है कि जो विकास दुबे दिनभर अपने घर मे रह रहा था उसे पकड़े पुलिस इतनी रात में क्यो गयी ?